परिषद ने जींद में फिजियोथैरेपी सेंटर नो प्रॉफिट नो लॉस के सिद्धांत पर खोला

परिषद ने जींद में फिजियोथैरेपी सेंटर नो प्रॉफिट नो लॉस के सिद्धांत पर खोला

जींद: महंगे दामों पर फिजियोथैरेपी कराने वाले मरीजों के लिए राहत की खबर है। सामाजिक संस्था भारत विकास परिषद की भूतेश्वर शाखा ने भारत सिनेमा रोड पर गुरुद्वारा श्री सिंह सभा में फिजियोथैरेपी सेंटर शुरू किया है। खास बात यह है कि परिषद ने यह सेंटर समाजसेवा के लिए नो प्रॉफिट नो लॉस के सिद्धांत पर खोला है। इसमें मरीजों को मात्र 30 रुपये फीस देनी पड़ेगी, जो रेडक्रॉस केंद्र की फीस से भी कम है। जबकि कई अन्य निजी सेंटरों में 100 से 150 रुपये लिए जाते हैं।

परिषद की प्रधान डा. रचना शर्मा, प्रोजेक्ट डायरेक्टर सुशील गुप्ता व रमेश सिगला ने बताया कि इस सेंटर में फिजियोथैरेपी की सबसे आधुनिक मशीनें मंगाई गई हैं। लेजर थैरेपी मशीन भी मंगाई है, जो जींद में किसी अस्पताल या सेंटर में नहीं है। सेंटर में ट्रैक्शन बेड सहित कुल 9 बेड हैं। अभी 14 अक्टूबर से फ्री ट्रायल शुरू कर दिया गया है, जो 25 अक्टूबर तक चलेगा। पहले दिन से ही 20 से ज्यादा मरीज पहुंचने शुरू हो गए हैं। सेंटर में हर तरह के ओस्टियो आर्थराइटिस, लकवा, अधरंग, स्ट्रोक सहित पूरे शरीर की फिजियोथैरेपी की जाएगी। गठिया बाय, कंधों में कहीं भी दर्द सहित कपिग थैरेपी, टैपिग थैरेपी व ट्राइनेडलिग थैरेपी से भी इलाज किया जाएगा। मरीज सुबह 10 से शाम 5 बजे तक यहां इलाज करा सकते हैं। शरीर के किसी भी हिस्से में फ्रैक्चर के बाद फिजियोथैरेपी की सुविधा यहां मिलेगी। घुटने बदलवाने के बाद, कूल्हे की रिप्लेसमेंट के बाद भी फिजियोथैरेपी की जाएगी।

–जरूरतमंद लोगों को मिलेगी राहत
गुरुद्वारा श्री सिंह सभा के प्रधान शोभा सिंह व महासचिव गुरजिदर सिंह ने बताया कि भारत विकास परिषद भूतेश्वर शाखा ने फिजियोथैरेपी सेंटर खोलकर नेक कार्य किया है। सबसे अच्छी बात मात्र 30 रुपये फीस रखने का किया है। इससे जरूरतमंद लोगों को काफी राहत मिलेगी। पटियाला चौक से लेकर एसडी स्कूल तक लोग अभी से इलाज कराने के लिए आने लग गए हैं। गुरुद्वारे की तरफ से भी सेंटर को हर तरह की मदद दी जाएगी।

–सबसे आधुनिक मशीनों से कम दाम पर थैरेपी
फिजियोथैरेपिस्ट डा. मंजू ने बताया कि यहां आधुनिक लेजर मशीन, एसडब्ल्यूडी, टेंस, आईएफटी, ट्रैक्शन, यूएसटी, हाइट्रोकोलेटर, मसल्स स्टीमुलेटर, सीपीएम सहित अन्य मशीनें भी हैं। यहां हर तरह का फिजियोथैरेपी का इलाज होगा। बच्चों के हाथ-पैर मुड़े होने, कमर दर्द, सर्वाइकल, टेनिस एल्बो व गोल्फर एल्बो, पूरी बॉडी में स्टिफनेस के बाद शरी मुड़ता नहीं है, इस तरह की सभी बीमारियों का इलाज सेंटर पर आधुनिक मशीनों से किया जाएगा।

–दिल्ली आर्मी रिसर्च अस्पताल की डॉक्टर ने किया ज्वाइन
परिषद ने फिजियोथैरेपिस्ट पद पर डा. मंजू का चयन किया है, जो दिल्ली के आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल से आई हैं। वे पानीपत के मदर टेरेसा अस्पताल में भी सेवाएं दे चुकी हैं। डा. मंजू ने बताया कि पूरे शरीर में कहीं भी फ्रैक्चर हो, उसके बाद यहां फिजियोथैरेपी की जाएगी। आधुनिक मशीनों से इलाज होगा। अभी तीन दिन में एक मरीज ने बताया कि तीन महीनों से फिजियोथैरेपी से आराम नहीं मिला था, जो मात्र तीन दिन में ही मिल गया है।

दैनिक जागरण : 17 October 2020

 

Close Menu