60 जरूरतमंद व आर्थिक दृष्टि से कमजोर बालक-बालिकाओं को स्वेटर वितरित

60 जरूरतमंद व आर्थिक दृष्टि से कमजोर बालक-बालिकाओं को स्वेटर वितरित

जालोर. भारत विकास परिषद की ओर से इन दिनों सेवा और संस्कार प्रकल्प के तहत ग्रामीण अंचल के विभिन्न राजकीय विद्यालयों में विद्यार्थियों के बीच कार्यक्रम आयोजित करने की मुहिम जारी है। इसी शृृंखला में बुधवार को राउप्रावि मामाजी का ऊण लेटा में शिक्षा विभाग, जालोर सहायक परियोजना समन्वयक समग्र शिक्षा मोहन लाल, परिषद के प्रांतीय संगठन मंत्री पदमाराम चौधरी, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी नरेंद्र परमार, प्रांतीय प्रकल्प प्रभारी मदनलाल माली व वेदपाल मदान की मौजूदगी में कार्यक्रम हुआ। 

सर्वप्रथम भारत माता की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन व वंदे मातरम गान कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इसके बाद प्रांतीय संगठन मंत्री चौधरी ने स्टूडेंट्स को गुरु द्रोणाचार्य व एकलव्य की कहानी के माध्यम से गुरु के प्रति अटूट श्रद्धा, कार्य के प्रति पूर्ण लगन व निष्ठा रखने की बातें बताई। सहायक परियोजना अधिकारी ने परिषद के ऐसे कार्यक्रमों की सराहना करते हुए कहा कि शिक्षक अपनी क्षमताओं व शक्तियों का उपयोग कर एक सुंदर समाज की रचना कर सकता है। कार्यक्रम को अन्य अतिथियों ने भी सम्बोधित किया।

कार्यक्रम में व्यवसायी मनीषकुमार बाहेती के आर्थिक सहयोग से विद्यालय के सभी 60 जरूरतमंद व आर्थिक दृष्टि से कमजोर बालक-बालिकाओं को स्वेटर वितरित किए गए। इस दौरान बच्चों के चेहरे खुशी से झूम उठे। कार्यक्रम में परिषद शाखा जालोर के उपाध्यक्ष सांवलाराम सांखला के नगर परिषद जालोर में पार्षद बनने पर परिषद ने उनका अंग वस्त्र पहनाकर व स्मृति चिह्न देकर अभिनंदन किया। वहीं दानदाता बाहेती का भी परिषद ने सम्मान कर उनका आभार जताया।

इस अवसर पर विद्यालय के शिक्षक मंगलसिंह, विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष अचलाराम परमार, उपाध्यक्ष गजा राम, शिक्षिका मीना परमार, रश्मि अरुण घीमे, श्वेता शर्मा, डिंपल खत्री, छोटूसिंह, अभिभावक व विद्यार्थी मौजूद थे। अंत में राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम संपन्न हुआ।ली सामूहिक शपथकार्यक्रम में विद्यार्थियों को जीवन में नशा प्रवृत्ति से दूर रहने की शपथ दिलवाई गई। साथ ही माता-पिता, शिक्षकों, नारी जाति व बड़ों का सम्मान करने का भी प्रण दिलाया गया। कार्यक्रम का संचालन देशाराम माली ने किया। सचिव वेलाराम चौधरी ने सभी अतिथियों, दानदाता व आगंतुकों का आभार जताया। विद्यालय के प्रधानाध्यापक शैतानसिंह राजपुरोहित ने परिषद के इस सेवा कार्य की सराहना कर पदाधिकारियों का आभार जताया।

Patrika News  20 Deceber, 2019

Close Menu