हर समय मानवीय सेवा के लिए तत्पर

हर समय मानवीय सेवा के लिए तत्पर

बाड़मेर: भारत विकास परिषद के राष्ट्रीय मंत्री मुकुंद सिंह ने परिषद की दोनों शाखाओं की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि हमें हर समय मानवीय सेवा के लिए तत्पर रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि चाहे चिकित्सा क्षेत्र हो या किसी भी तरह की प्राकृतिक आपदा (disaster) हो हमें हर समय मानव सेवा में अपना योगदान देना है। दोनों शाखाओं के संयुक्त अधिवेशन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हमें समाज (society) में अधिक से अधिक सदस्य परिषद के बनाने हैं। गुरु वंदन छात्र वंदन कार्यक्रम के बारे में उन्होंने कहा कि गत वर्ष जिन छात्रों को पुरस्कृत किया गया था उनका फीडबैक लेना आवश्यक है। सड़क सुरक्षा (road safty) के बारे में अधिक से अधिक जानकारी छात्रों में शेयर (share with student) करने का आह्वान किया।
प्रांतीय महासचिव जगदीश प्रसाद शर्मा ने कहा कि दोनों शाखाओं को एक-एक गांव गोद लेना है और उसका संपूर्ण विकास का नक्शा तैयार करना है। भारत को जानो प्रतियोगिता और राष्ट्रीय समूह गान प्रतियोगिता की तैयारी अभी से ही करवानी शुरू कर देनी चाहिए। उन्होंने शाखाओं के संगठनात्मक ढांचे को मजबूत बनाने पर जोर दिया।

दोस्त बनकर करें सेवा
प्रांतीय अध्यक्ष भवानी शंकर गौड़ ने कहा कि हमें इंसान का दोस्त बनकर उनकी सेवा करनी है। मानव मात्र का दोस्त बनकर उनकी समस्या को दूर करने में भागीदार बन सकते हैं। प्राकृतिक विपदा के समय हमें हर समय तैयार रहकर मानव सेवा करनी है। बाढ़, अतिवृष्टि व महामारी आदि से लोगों को बचाने की योजना अभी से शाखाओं को बना लेनी चाहिए। इस अवसर पर प्रांतीय संगठन मंत्री पदमाराम चौधरी ने कहा कि दोनों शाखाओं के सदस्यों में परस्पर तालमेल होना आवश्यक है। इससे पूवज़् सचिव ओम जोशी और दिनेश सिंघवी ने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। स्वागत अध्यक्ष ताराचंद जाटोल नव प्रदीप राठी ने धन्यवाद ज्ञापित किया । इससे पूर्व भारत विकास परिषद स्थानीय शाखा द्वारा संचालित पैथोलॉजी भारत लैब का प्रांतीय पदाधिकारियों ने अवलोकन किया 

पत्रिका: 04 August, 2019

Leave a Reply

Close Menu