Photo Gallery

 Audio Gallery

   States / Prants

 Branch PSTs

  Finance

 Some Useful Articles

   BVP in the News

   States' Publications

 News from the Branches

 Forms & Reporting Formats
More Information
 Feedback 
 Website Contents 
  FAQs

 

 



Be a partner in development of the Nation

Bharat Vikas Parishad is striving for the development of the Nation. You can also participate in this effort  by (a) becoming a member of Bharat Vikas Parishad, (b) enrolling yourself as a “Vikas Ratna” or “Vikas Mitra”  and (c)  donating for various sewa &  sanskar projects.

Donations to Bharat Vikas Parishad are eligible for income tax exemption under section 80-G of Income Tax Act. Donations may kindly be sent by cheque / demand draft in favour of Bharat Vikas Parishad, Bharat Vikas Bhawan, BD Block, Behind Power House, Pitampura, Delhi-110034.


 
 

.
 

12MKL

                     Mahakaushal                

a.

    District-wise Branches  

b.

    Annual Prantiya Report

c.

    Other Reports from the Prant     

D.

    Elected Prantiya Office Bearers

 
   
 
     

 District-wise Branches

 
 

CODE

DISTRICT / BRANCHES
  MKL3980 SAGAR
1 MKL3980 01 Sagar
2 MKL3980 02 Devri
3 MKL3980 03 Rehli
4 MKL3980 04 Tendukheda
  MKL3990 DAMOH
5 MKL3990 01 Damoh
6 MKL3990 03 Hata Damoh
7 MKL3990 04 Patheria Damoh
8 MKL3990 05 Batiyagarh
9 MKL3990 06 Jabera
10 MKL3990 07 Patera
  MKL 4000 NARSINGHPUR
11 MKL4000 01 Narsinghpur
12 MKL4000 03 Kareli
13 MKL4000 04 Gadarwara
14 MKL4000 05 Gotegaon
15 MKL4000 06 Tendukhera
  MKL4010 JABALPUR
16 MKL4010 02 Jabalpur City
17 MKL4010 03 Shree Shivaji
18 MKL4010 04 Vivekanand Jabalpur
19 MKL4010 05 Jabalpur Sanskriti
20 MKL4010 07 Jabalpur Cantt.
21 MKL4010 08 Jabalpur Samarpan
22 MKL4010 09 Jabalpur Sanskar
23 MKL4010 10 Jabalpur Samanvaya
24 MKL4010 12 Majhgava
25 MKL4010 14 Sanklap Jabalpur
26 MKL4010 15 Sihora
27 MKL4010 17 Bargi
28 MKL4010 18 Narmada
29 MKL4010 19 Sampark
30 MKL4010 20 Durgavati
31 MKL4010 21 Pratap
32 MKL4010 22 Kachnar City
33 MKL4010 23 Subhash
34 MKL4010 24 Panargar
  MKL4020 MANDLA
35 MKL4020 01 Maharajpur Mandla
  MKL4030 DINDORI
36 MKL4030 01 Dindori
37 MKL4030 02 Sahpura
38 MKL4030 03 Mehadwani
  MKL4040 CHINDWARA
39 MKL4040 01 Chindwara
40 MKL4040 02 Sounsar
41 MKL4040 03 Pandhurna
42 MKL4040 04 Parasia
43 MKL4040 06 Pandhurna Vivekanand
44 MKL4040 07 Junnardev
45 MKL4040 08 Vivekanand
  MKL4050 SEONI
46 MKL4050 01 Seoni
47 MKL4050 02 Dhooma
48 MKL4050 03 Lakhnadon
  MKL4060 BALAGHAT
49 MKL4060 02 Wara Seoni
50 MKL4060 03 Katangi
51 MKL4060 04 Lanji
52 MKL4060 06 Vivekanand
     

 

 PRANTIYA ANNUAL REPORT

 

 

2016-17

2015-16

 
 
 

 OTHER REPORTS FROM THE PRANT


प्रान्तीय कार्यशाला:2010-11
महाकौशल
: प्रान्त की कार्यशाला प्रान्तीय अध्यक्ष प्रो. बी.पी. सूरी रीवा की अध्यक्षता में शहडोल शाखा में आयोजित की गई। कार्यशाला में राष्ट्रीय महामन्त्री एस.के. वधवा मुख्य अतिथि के रूप में दिल्ली से आये। विशिष्ट अतिथि क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ. विद्याधर मातेले जबलपुर व राष्ट्रीय सचिव अरुण डागा ग्वालियर से पधारे। कार्यशाला में रीवा, कटनी, नरसिंहपुर, जबलपुर, सीधी, शहडोल शाखाओं के बहुत से कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। प्रो. डॉ. मातेले ने संस्कार व सेवा की व्याख्या की और ऐसी गतिविधियों द्वारा संस्कारित समाज के उत्थान हेतु प्रेरित किया। रीवा से शाखा के अध्यक्ष महेन्द्र सर्राफ, सचिव महेश खण्डेलवाल तथा पूर्व अध्यक्ष वीरेन्द्र आर्या ने भी प्रो. सूरी के साथ उपस्थित होकर कार्यशाला में सक्रिय सहभागिता दर्ज कराई।

`भाविप के कार्यकर्ताओं को परिषद् के सूत्र शब्दों के अनुरूप कार्य करना चाहिए। साथ ही उसे स्वयं के जीवन में अपनाना चाहिए। आपसी संपर्क व परस्पर सहयोग के साथ ही मानवीय संस्कारों के अनुरूप कार्य करते हुए सम्पूर्ण समर्पण के भाव से सेवा के पथ पर बढ़ना चाहिए।´ उक्त आशय के उद्गार राष्ट्रीय महामन्त्री सुरेन्द्र कुमार वधवा ने शहडोल में आयोजित एक दिवसीय प्रान्तीय कार्यशाला में व्यक्त किए। प्रान्त की विभिन्न शाखाओं के नवीन कार्यकारिणी एवं प्रान्तीय पदाधिकारियों को दायित्व बोध् एवं निपुणता के उद्देश्य से आयोजित उक्त कार्यशाला में महाकौशल प्रान्त की विभिन्न शाखाओं के पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए श्री वधवा ने परिषद् के गठन की परिस्थितियों, इतिहास, कार्यपद्धति आदि से अवगत कराया। उन्होंने परिषद् के त्रिस्तरीय दायित्वों की चर्चा भी सदस्यों को दी।

कार्यशाला में ग्वालियर से पधारे अखिल भारतीय मन्त्री अरुण डागा ने पदाधिकारियों के समक्ष ऑडिट एकाउण्ट्स रिपोर्टिंग आदि प्रस्तुत की। उन्होंने प्रभावी शाखा की विशेषताओं की चर्चा करते हुए कहा कि कार्य ऐसा होना चाहिए जिससे कार्यकर्ता का निर्माण हो। कुशल नेतृत्व सदस्यों को कार्यकर्ता में परिवर्तित करने की क्षमता रखता है। परिषद् के क्षेत्रीय अध्यक्ष प्रो. विद्याघर मातेले जबलपुर ने कहा कि ईश्वर ने मानव को किसी भी क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ नहीं बनाया किन्तु उसकी बुद्धि एवं संस्कार उसे सभी प्राणियों में सर्वश्रेष्ठ बनाते हैं। मानव को हमेशा मानवीय गुणों का पालन करना चाहिए। उसे संस्कार को हमेशा परिमार्जित करना चाहिए क्योंकि यही वह गुण है जो लोहे को भी सोना बना सकता है।

परिषद् के प्रान्तीय अध्यक्ष प्रो.वी.पी. सूरी ने कहा कि महाकौशल प्रान्त में वर्तमान में 11 शाखाएं हैं तथा इस वर्ष हमारा संकल्प सभी जिला मुख्यालयों में शाखाओं का शुभारंभ कर 21 शाखाओं का लक्ष्य प्राप्त करना है। उन्होंने गत वर्ष की सभी शाखाओं के अध्यक्षों का सम्मान करते हुए कहा कि आगामी वर्ष से सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाली शाखा को पुरस्कृत किया जाएगा। गत वर्ष श्रेष्ठ कार्य हेतु शहडोल शाखा के निवर्तमान अध्यक्ष जसवीर सिंह का सम्मान भी किया गया।

कार्यक्रम के प्रारंभ में अतिथियों का स्वागत परिषद् की स्थानीय शाखा के अध्यक्ष डॉ. रवि नेमा ने किया। प्रान्तीय महासचिव शशांक श्रीवास्तव ने अपने प्रतिवेदन में वर्ष-भर के कार्य का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में प्रान्तीय संगठन मन्त्री रवीन्द्र वाजपेयी, पूर्व प्रान्तीय महासचिव उज्जवल पवार, शाखा सचिव शक्ति, सुमन जोहरी, कोषाध्यक्ष आलोक खोडियार के साथ-साथ बड़ी संख्या में सदस्य पदाधिकारी उपस्थित रहे। अतिथियों का आभार संयोजन सुशील सिंघल ने व्यक्त किया।

(Niti: Aug, 2010)


प्रान्तीय कार्यशाला:2009-10

रीवा, महाकौशल
: प्रान्त की कार्यशाला स्वयंवर विवाह घर में आयोजित की गई। कार्यशाला में रीवा, सतना, शहडोल, कटनी, जबलपुर, छतरपुर व टीकमगढ़ के पदाधिकारी सम्मिलित हुए तथा क्षेत्रीय मंत्री के.के. भटट् तथा अशोक जाधव राष्ट्रीय मंत्री मुख्य वक्ताओं के रूप में सम्मिलित हुए। अध्यक्षता प्रान्तीय अध्यक्ष प्रो. बी.पी. सूरी द्वारा की गई। विभिन्न पदाधिकारियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में किये जा रहे सेवा व संस्कार कार्यो की रिपोर्ट पेश करते हुए भविष्य की योजनाओं पर भी प्रकाश डाला गया। प्रान्त में जल संकट को देखते हुए शाखाएं मुख्यत: जल संरक्षण हेतु जन जागरण का कार्य करें।

 (Niti; Oct.,2009)
 

                                                                                                                                         top         Home 

 

Copyright©  Bharat Vikas Parishad . All Rights Reserved