राष्ट्र के विकास में सभी का योगदान: भैयाजी जोशी

राष्ट्र के विकास में सभी का योगदान: भैयाजी जोशी

दिल्ली : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश भैयाजी जोशी ने कहा कि राष्ट्र के निर्माण में हर एक नागरिक का योगदान होता है। फिर वह चाहें शिक्षाविद् हों या फिर उद्योग जगत से जुड़ा कोई समाजसेवी। इसलिए हर नागरिक को एक-दूसरे का पूरक बनकर आपस में सहयोग करना चाहिए। इसी से राष्ट्रीय एकता बढ़ेगी और मजबूत राष्ट्र का निर्माण होगा।

भैयाजी जोशी शुक्रवार को भारत विकास परिषद (भाविप) की जेएनयू शाखा और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीई) की ओर से शिक्षाविदों एवं उद्योग जगत की राष्ट्र निर्माण में भूमिका विषय पर आयोजित विचार गोष्ठी में बतौर मुख्य वक्ता बोल रहे थे। यह कार्यक्रम वसंत कुंज स्थित एआइसीटीई के परिसर में हुआ। इसमें बतौर मुख्य अतिथि मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री डॉ. सत्यपाल सिंह भी मौजूद रहे। 

भैयाजी ने कहा कि उद्योग जगत को सीएसआर को मजबूरी नहीं बल्कि अपना कर्तव्य समझकर योगदान देना चाहिए। देश, समाज और जीवन को नई दिशा देने वाले धर्माचार्यो की आज आवश्यकता है। कुछ धर्माचार्य मठ-मंदिर व संपत्ति के लालच में पड़कर अपराध कर बैठते हैं। इससे धर्माचार्यो के बारे में सकारात्मक विचार रखने वाले आम लोग आहत होते हैं। उन्होंने कहा कि बौद्धिक क्षमता बढ़ने के साथ-साथ ऐसे विद्वान लोगों की भी आवश्यकता है, जो सही राह दिखा सकें।

इस दौरान भैयाजी जोशी व एआइसीटीई के अध्यक्ष प्रोफेसर अनिल सहस्नबुद्धे ने जेएनयू के एक दिव्यांग छात्र को ऑटोमेटिक व्हीलचेयर प्रदान की। कार्यक्रम की अध्यक्षता भाविप के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. सुरेश चंद्र गुप्ता ने की। इस दौरान हरियाणा सरकार के अपर मुख्य सचिव अनिल कुमार, एआइसीटीई के उपाध्यक्ष डॉ. एमपी पुनिया, जेवीएम ग्रुप के चेयरमैन एसके आर्या, भाविप जेएनयू शाखा के अध्यक्ष प्रो. अजय कुमार दुबे, उपाध्यक्ष प्रो. रामनाथ झा व सचिव प्रो. मजहर आसिफ, एसीई के सीएमडी विजय अग्रवाल आदि मौजूद रहे।

जागरण: 11 February, 2019 

.

Close Menu